ईसा मसीह के हवे?




सवाल: ईसा मसीह के हवे?

जवाब:
“का ईश्वर के अस्तित्व बा?” एह सवाल के तुलना में बहुत कम लोग इ सवाल पूछेला कि का ईसा मसीह रहलन। आमतौर पर इ स्वकार कइल जाला कि यीशु वास्तव में एक आदमी रहले जे 2000 साल पहिले इस्रायल में धरती पर रहले। बहस तब शुरू होला जब यीशु के पूरा परिचय के बारे में चर्चा कइल जाला। तकरीबन हर धरम में इ बतावल जाला कि यीशु एक देवदूत भा एगो गुरू भा एगो दैविक इंसान रहले।

सी एस लेविस अपना किताब ‘मिर क्रिश्चानिटी’ में लिखल बा : हम एहिजा केहू के बेवकूफी भरल बात कइला से रोके के प्रयास कर रहबल बानी जे लोग उनका (ईसा मसीह) के बारे में अक्सर कहेले : ‘हम यीशु के एक महान गुरू के रूप में स्वीकार करे खातिर तैयार बानी, बाकि हम उन कर ईश्वर होखे के दावा के स्वीकार ना करब।’ इ एगो बात बा जेकरा के बिल्कुल ना कहे के चाहीं। एक आदमी जे महज एगो आदमी बा अउर यीशु जइसन बात करे, कौनो तरह से महान गुरू नइखे हो सकत। चाहे त उ पागल होखी- एक आदमी से तुलना में के कही कि उ अण्डा के पोच ह- भा नरक के प्रेतात्मा होखी। तहरा जरूर आपन विकल्प बनावे के चाहीं। चाहे त उ आदमी, ईश्वर के संतान रहले भा बाड़े चाहे एगो पागल भा ओकरो से कुछ खराब रहले। तू उन कर के मूर्खता खातिर चुप करा सक ताड़ऽ, तू उनका उपर थूक सक ताड़ऽ, राक्षस समझ के हत्या कर सक ताड़ऽ; चाहे तू उनका पैर पर गिर जा आ उनका के ईश्वर अउर प्रभु बोलाव। पर हमनी के उनका महान गुरू भइला के बारे में कौनो नासमझी ना बतियावे के चाहीं। उ हमनी खातिर उ विकल्प नइखन छोड़ले। उन कर नियत भी ना रहे।

त के यीशु भइला के दाव कइल? बाइबिल के मुताबिक उ के रहले? पहिले जॉन 10:30 में यीशु शब्द के बारे में देखल जाव,” हम अउर परमपिता एक हईं।” पहिला नजर में इ नइखे लगात कि ईश्वर होखे के दावा ह। फेर इ वकतव्य पर यहूदियन के प्रतिक्रिया भइल, “ इ सब खातिर हमनी के तहरा पर पत्थर नइखी फेंकत बाकि ईश्वर के निन्दा कइला खातिर अउर साधारण आदमी हो के ईश्वर भइला के दावा करे खातिर” (जॉन 10:33) । यहूदी लोग यीशु के वक्तव्य के ईश्वर होखे के दावा समझल। एह कड़ी में यीशु कभी यहूदियन के सुधारे के बात ना कइले अउर कहले,”हम ईश्वर होखे के दावा ना कइनी”। एकरा से इ पता चल ता कि यीशु सही कहत रहले कि उ ईश्वर हवे घोषित कइला पर, “ हम आ परमपिता एके हईं”(जॉन 10:30) । जॉन 8:58 एक दोसर उदाहरण बा : “ हम सत्य बताव तानी, उ जवाब दिहले, ‘ अब्राहम के पहिले हम जनम लेले रहीं।” एक बार फेर यहूदी लोग उनका के मारे खतिर पत्थर उठा लिहल त ओकरा जवाब दिहले (जॉन 8:59) । यीशु आपन परिचय के बारे में घोषणा कइले कि “हम” ईश्वर के पुरान टेस्टामेंट के नाम के सीधा उदाहरण हईं (एक्सोडस 3:14) । फेर यहूदी लोग यीशु के पत्थर मारे के चाहत रहे, अगर उ उ लोग के हिसाब से ईश्वर के निन्दा ना कइले रहते माने अपना के ईश्वर घोषित ना कइले रहते?

जॉन 1:1 में कहल बा, “शब्द रहे ईश्वर”। जॉन 1:14 में कहल बा, “शब्द हो गइल मांस”। साफ तौर पर एकर मतलब भइल यीशु हाड़-मांस में ईश्वर हवे। यीशुं के भक्त थॉमस घोषण कइले,”हमार प्रभु आ हमार ईश्वर” (जॉन 20:28) । यीशु ओकरा के सुधार ना कइले। प्रचारक पॉल उनकर वर्णन कर ताड़े,.... हमनी के महाप्रभु अउर रक्षक, ईसा मसीह” (टाइटस 20:28) । प्रचारक पीटर भी उहे कह ताड़े,” हमार प्रभु अउर हमार रक्षक ईसा मसीह”(2पीटर 1:1) । परमपिता परमेश्वर यीशु के पूरा परिचय के गवाह हवे, “ बाकि पुत्र के बारे में उ कह ताड़े,”तहार गद्दी, हे प्रभु, हमेशा-हमेशा खतिर रही अउर तहरा राज्य में नेकी के राज होखी”। पुराने टेस्टामेंट में ईसा मसीह अपना देवत्व के बारे में ,” हमनी खातिर एक बच्चा के जन्म भइल, हमनी खातीर एक पुत्र दिहल गइल अउर शासन के भार ओकरे कंधा पर रही। अउर उ अद्भुत सलाहकार , शक्तिमान ईश्वर, सनातन पिता, अउर शांति के राजकुमार होई।

एह से, सी एस लेविस तर्क दिहले, यीशु के एगो अच्छा गुरू कहल कौनो विकल्प नइखे। यीशु के साफ तौर पर अउर बिना इन्कार कइले ईश्वर कहल जा सकता। अगर उ ईश्वर ना हवे, त झूठ बाड़े, अउर देवदूत भी नइखन, ना अच्छा गुरू अउर ना ईश्वर के आदमी हवे। यीशु शब्द के विश्लेषण के दौरान आधुनिक विद्वान दावा कइले “वास्तविक ऐतिहासिक यीशु” के बारे में बाइबिल में जतना लिखल बा ओतना उ कभी ना कहले। हम के हईं के तर्क में ईयवर शब्द के बारे में उ कहले कि ना कहले? 2000 साल यीशु के बाद के विद्वान उनका बारे में उ लोग से बेहतर इ कइसे बता सकेला यीशु का कहले अउर का ना कहले, जे यीशु के साथ रहल, सेवा कइल अउर ईसा मसीह से ज्ञान प्राप्त कइल (टाइटस 20:28)?

यीशु के सही परिचय के बारे में सवाल अतना काहे महत्वपूर्ण बा? काहे इ माएने रखता कि यीशु परमेश्वर हवे कि ना? सबसे महत्वपूर्ण कारण बा यीशु के ईश्वर होखे कि अगर उ ईश्वर ना रहते त पूरा दुनिया के पाप के प्रायश्चित खातिर उनकर मृत्यु पर्याप्त ना होखित (1 जॉन 2:2) । केवल ईश्वर अनन्त सजा भोग सकत रहले(रोमन 5:8; 2 कॉरिन्थियन्स 5:21) । यीशु के ईश्वर ही होखे के रहे एही से उ हमनी के कर्जा चुका सकले। यीशु के आदमी होखे के रहे एह से कि उ मर सकस। ईसा मसीह के आस्था में ही मोक्ष के प्राप्ति बा। यीशु ईश्वर रहले एहीसे दावा कइले, “ हम मार्ग अउर सत्य आ जीवन हईं। केहू परमपिता परमेश्वर के पास बिना हमरा माध्यम के नइखे पहुँच सकत (जॉन 14:6) ।



भोजपुरी हामपेज में वापस



ईसा मसीह के हवे?