ईसा मसीह क ह?



सवाल : ईसा मसीह क ह?

जबाब :
“क परमेश्वर क अस्तित्व ह?” इ सवाल के बिपरित बहुत कम लोगन ने इ सवाल कइल ह। क ईसा मसीह क कवनो अस्तित्व रहल ह । क ईसा मसीह क कवनो अस्तित्व रहल ह । एह सरल रूप से मानल जात कि ईसा सच में एगो आदमी रहलन जे लगभग 2000 वर्ष पहिले इसारईल के धरती के उपर चलन घूमलन। बाद-विवाद तब शुरू भइल ह - जब ईसा पूरा पहचान धरम एह शिक्षा देता कि ईसा एगो पैगम्बर ह, या एगो अच्छा शिक्षक या एगो धारमिक आदमी रहलन। समस्या एह ह कि बाईबल इ बतावल ह कि ईसा आरम्भ से ही एगो भविष्यवता एगो अच्छा शिक्षक या एगो धारिमक आदमी से बहुत आधिक बढ़कर रहलन ।

सी. एस. लुईस अपना किताब मीयर क्रिशिचयानिटी (केवल मसीहित) में एह लिखल ह। “हमनी एह पर केहू के भी उ सच्चाई मुरखा भरल बात क कहलन से रोके के प्रयास कइलन ह जेकरा से लोग अकसर उ [ईसा मसीह के] बारे में कहल ह: 'हमनी ईसा के एगो महान नैतिक शिक्षक (उपदेशक) के रूप में मानल के तैयार हाई, परन्तु हमनी के उसे परमेश्वर हावे कि दावा के नईखे मानत। एहसे एगो अइसन आदमी जे केवल कहत रहलन जइसन ईसा ने कहलन एगो महान नैतिक शिक्षक नइखे हो सकता अ या त एगो पागल आदमी रहलन उ स्तर प जइसन कवनो आदनी कहे कि उ एगो सडल अण्ड ह।” - या फेर उ नरक क शैतान हो सकत। रउवा अपना चुनाव करे खातिर । या त एह आदमी जे परमेश्वर क वेटा रहलन अउर एह आदमी ह । या फेर कवनो पागल या कुछ अउर एहसे जदा बुरा आदमी । रउवा मूरख के खातिर उ से चुप करा सकत ह । उ पर थुकत सकत ह अउर एगो दुष्टआत्मा के रूप मे ओकरा के मार सकत रहलन ह; या रउवा उनकरा के चरन में गिर कर उनकरा प्रभु अउर परमेश्वर कहा सकतानी । परन्तु हमनी कहो भी किरपा से भरल इ मूरखता के सथ इ निरणय नईखे लेहले बानी उ एगो महान शिक्षक (उपदेशक) रहलन । ओकरा में एगो रहा हमानी खातिर खुल नईखे छोडल ह। एहसे अइसन कवनो विचार नईखे कहल।"

एह खातिर, ईसा ने अपना खातिर कवनो होवे क दावा कइलन? बाईबल क कहल ह कि उ कवन रहलन? सबसे पहिले यूहन्ना 10:30 में ईसा शब्द की ओर दिखत ह, "हम अउर पिता एगो हुई”, पहली दृष्टि में एह परमेश्वर होवे के दावा के रूप में प्रतीत नइखे हो ता । परन्तु फेर भी उनका कथन पा, यहूदी लोगन ने उनकरा के प्रतिक्रिया क देखे, "कि भला काम के खातिर हमनी के तोहरा पत्थरवाह नईखे करत बल्कि परमेश्वर की बुराई के कारन; अउर एहसे कि तू आतमा होके अपना आप के परमेश्वर बतावत बाडा” (यूहन्ना 10:33)। यहूदियों ने ईसा के कथन क परमेश्वर होवे के दावा समझत रहलन । आवे बाली आयतन में ईसा ने यहूदियों क सुधारे के खातिर कवहो भी एह नईखे कहलन कि “हम परमेश्वर होवे दावा नईखे करत रहलली।” सकेंत देत ह कि ईसा एह घोषणा कइलन ह कि "पिता अउर हम एगो हुई” (यूहन्ना 10:30) में सच कहल रह बा कि उ परमेश्वर होवे।

यूहन्ना 8:58 एगो अउर उदाहरण ह: ईसा न कहलन “कै तुहन लोग से सच सच कह तानी कि ऐकरा पहिले के आब्रहम पैदा भइलन मैं हूँ!” एगो बार फिर, प्रतिक्रिया में यूहदिया ने पत्थर उठा के ईसा के मारे के कोशिस कइलन (यूहन्ना 8:59)। ईसा ने अपना पहचान क घोषणा कइलन “मैं हूँ” करके कहलन उ पुराना नियम में परमेश्वर के नाम क सीधा रूप पर लागू करतलन (निर्गमन 3:14)। यहूदी फेर से ईसा क काहे पत्थरवाह करे चहात रहलन एहसे कुछ निन्दा करके समझत रहलन मतलब परमेश्वर हावे क दावा?

“अपना महान परमेश्वर अउर मुक्तिदाता ईसा मसीह” परमेश्वर अउर मुक्तिदाता ईसा मसीह (2 पतरस 1:1)। पिता परमेश्वर भी ईसा क पूरा पहचान अउर गवाही देहलन ह, "परन्तु बेटा से कहलन ह, 'कि हे परमेश्वर तोहरा सिंहासन युगनयुग रही, तोहार राज क राज दण्ड न्याय ह ।" पुराना नियम में ईसा मसीह के ईश्वरीय होने के बारे में इ कहल, "हमनी खातिर एक बच्चा के जन्म भइल, हमनी खातिर एक पुत्र दिहल गइल अउर शासन के भार ओकरे कंधा पर रही। ओकरा नाम अदूभुत काम करे वाला, पराक्रमी परमेश्वर, अनन्तकाल क पिता, अउर शान्ति क राजकुमार रखल जाई" (यशायाह 9:6)।

एहसे ही, जइसन कि सी. एस. लुईस क दिहल गइल उदाहरणन ह, कि ईसा एगो अच्छा शिक्षक के रूप में मान ल ह काहेकि कवनो विकल्प नईखे ह। ईसा ने साफ-साफ रूप से अउर परमेश्वर होवे क इनकार न कइले जाऐ बाता दावा के कइलन ह यदि उ परमेश्वर नईखे ह, त फेर उ झूठा ह, अउर एहसे एगो नबी; अच्छा शिक्षक, या धारमी आदमी नईखे ह। ईसा शब्द क व्याख्या करे खातिर प्रयास कइले ह आधुनिक विद्वान एह दावा कइलन कि “वास्ताविक ऐतिहासिक ईसा" के उनका से बहुत से बातन क नईखे कहलन जेकरा के बाईबल में उनकरा से कहल ह। परमेश्वर क बचन के साथ बहस करे वालन हमनी क कवन होत हाई कि ईसा न क कहलन या क नईखे कहलन? कइसे कवनो एगो “विद्वान” जे ईसा के दो हजार साल बाद आइले मे इसेन उतम बोध उनकरा के वाजए जे उनोकरा साथ रहे। जेकरा उनकरा सेवा कि अउर खुद ईसा से शिक्षा पइलन से कइसे हो सकत ह कि ईसा ने क कहलन या क नईखे कहलन (यूहन्ना 14:26)?

ईसा क सच्चा पहचान क उपर सवाल ऐतना महत्वपूर्ण काहे ह? एह बात के का मतलब ह कि ईसा परमेश्वर रहेक चाही। उ एह ह कि यदि ईसा परमेश्वर नईखे ह ता उनकरा मौत सगरी दुनियाँ के पापन के दण्ड क दाम चुकावल पुरा नईखे हो सकत रहल (यूहन्ना 2:2)। केवल परमेशअवर ही अइसन असीमित दाम चुका सकत ह (रोमियन 5:8; 2 कुरिन्थयन 5:21)। ईसा क परमेश्वर होवे क रहल जवना से उ हमारा कर्ज क चुकवलन। ईसा क आदमी होवे के रहल त उ मर सके मुक्ति केवल ईसा मसीह में बिसवास कइला पर ही मिल पाई । ईसा क ईश्वर अवतार ही ह काहेकि उ मुक्ति क एगो मात्र राह बाडे । ईसा क ईश्वरत्व ही ह जेकरा करान एह घोषणा कइल बा कि “राह अउर सच्चाई अउर जिनगी हम ही बानी बिना हमारा के दवारा केहू पिता के पास नईखे पहुच सकत” (यूहन्ना 14:6)।



भोजपुरी के मुख्य पृष्ठ पर बापस जाई ।



ईसा मसीह क ह?