क्या एक जोड़े का विवाह से पूर्व एक साथ इक्ट्ठे रहना गलत है?



प्रश्न: क्या एक जोड़े का विवाह से पूर्व एक साथ इक्ट्ठे रहना गलत है?

उत्तर:
इस प्रश्न का उत्तर कुछ सीमा तक इस बात के ऊपर निर्भर करता है कि "एक साथ इक्ट्ठे रहने" या सहचार्य जीवन का क्या अर्थ है। यदि इसका अर्थ यौन सम्बन्धों का होना है, तो यह निश्चित रूप से गलत है। पवित्र शास्त्र में विवाह पूर्व यौन की, अन्य तरह की यौनिक अनैतिकताओं के साथ बार बार निन्दा की गई है (प्रेरितों के काम 15:20; रोमियों 1:29; 1 कुरिन्थियों 5:1; 6:13, 18; 7:2; 10:8; 2 कुरिन्थियों 12:21; गलातियों 5:19; इफिसियों 5:3; कुलुस्सियों 3:5; 1 थिस्सलुनीकियों 4:3, यहूदा 7)। बाइबल पूरी तरह से वैवाहिक जीवन के बाहर (और पहले) संयम को बढ़ावा देती है। विवाह से पहले यौन ठीक उतना ही गलत है जितना की व्यभिचार और अन्य तरह की यौनिक अनैतिकताएँ, क्योंकि इन सभी में ऐसे व्यक्ति सम्मिलित है जिसके साथ आप विवाहित नहीं हैं।

यदि "एक साथ इक्ट्ठे रहना" या सहचार्य का अर्थ किसी एक घर में रहना है, तो शायद यह एक भिन्न विषय है। आखिरकार, इसमें कुछ भी गलत नहीं है कि एक पुरूष और एक स्त्री एक ही घर में रहें – यदि उनमें कुछ भी अनैतिकता घटित नहीं हो रही है। हांलाकि, वहाँ पर समस्या उठ खड़ी होती है क्योंकि वह अभी भी अनैतिकता का दिखावा है (1 थिस्सलुनीकियों 5:22; इफिसियों 5:3), और यह जबरदस्त तरीके से अनैतिकता की परीक्षा में पड़ने का कारण हो सकता है। बाइबल हमें अनैतिकता से बच के भागने के लिए कहती है, न कि स्वयं को निरन्तर अनैतिकता की परीक्षाओं में पड़ने के खतरे में (1 कुरिन्थियों 6:18)। फिर यहाँ पर दिखावे की समस्या है। एक जोड़ा जो एक साथ इक्ट्ठे रह रहा है का इक्ट्ठे साथ सोने का अनुमान लगाया जाता है – ऐसी बातों की प्रकृति का कारण होता है। हांलाकि उनका एक ही घर में रहना और अपने आप में पाप से भरा हुआ नहीं है, परन्तु पाप का दिखावा या प्रकटीकरण वहाँ पर है। बाइबल हमें बुराई के दिखावे से बचने (1 थिस्सलुनीकियों 5:22; इफिसियों 5:3), अनैतिकता से भागने, और किसी को ठोकर का कारण या ठेस पहुँचाने का कारण नहीं बनने के लिए कहती है। परिणामस्वरूप, यह परमेश्वर को आदर देने वाली बात नहीं है कि बिना विवाह किए एक स्त्री और पुरूष इक्ट्ठे साथ रहें।



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



क्या एक जोड़े का विवाह से पूर्व एक साथ इक्ट्ठे रहना गलत है?