इसका क्या अर्थ है कि यीशु बचाता हैॽ



प्रश्न: इसका क्या अर्थ है कि यीशु बचाता हैॽ

उत्तर:
"यीशु बचाता है" एक बम्पर सेल के स्टीकरों, खेल की घटनाओं में एक लोकप्रिय नारा होता है, और यहाँ तक कि उन झंडों के ऊपर भी लिखा हुआ होता है जिन्हें छोटे हवाई जहाज आकाश में उड़ा कर खीचते हुए ले जाते हैं। दुर्भाग्य से, थोड़े ही जो इस वाक्य "यीशु बचाता है" को सच्चाई से देखते और पूरी तरह से समझ पाते हैं कि इसका क्या अर्थ है। इन दो शब्दों में बहुत अधिक मात्रा में सामर्थ्य और सच्चाई भरी पड़ी है।

यीशु बचाता है, परन्तु यह यीशु कौन हैॽ
अधिकांश लोग समझते हैं कि यीशु एक ऐसा व्यक्ति था जो कि इस्राएल में लगभग 2000 वर्षों पहले रहा। स्पष्ट रूप से इस संसार का प्रत्येक धर्म यीशु को एक अच्छे शिक्षक और/या एक नबी के रूप में मानता है। और जबकि ये बातें अधिक निश्चित रूप में यीशु के लिए सत्य हैं, परन्तु यह फिर भी उस झलक को नहीं दिखाती हैं कि यीशु कौन था, न ही यह विवरण देती हैं कि कैसे या क्यों यीशु बचाता है। यीशु मानवीय रूप में परमेश्वर था (यूहन्ना 1:1, 1:14)। यीशु परमेश्वर है, जो इस पृथ्वी पर, एक सच्चे मनुष्य के रूप में आया (1 यूहन्ना 4:2)। परमेश्वर यीशु में एक मानवीय प्राणी बन गया ताकि हमें बचा ले। यह हमें अगले प्रश्न की ओर ले चलता है: क्यों हमें बचाए जाने की आवश्यकता हैॽ

यीशु बचाता है, परन्तु हमें बचाए जाने की क्यों आवश्यकता हैॽ
बाइबल घोषणा करती है कि हर एक व्यक्ति जो अभी तक इस संसार में रहा है पापी है (सभोपदेशक 7:20; रोमियों 3:23)। पाप करने का अर्थ कुछ ऐसा कार्य चाहे सोच, शब्द और कार्य के द्वारा करना, जो परमेश्वर के पूर्ण और पवित्र चरित्र के विरोध में हो। हमारे पापों के कारण, हम सभी परमेश्वर की ओर से न्याय को पाने के लिए पात्र थे (यूहन्ना 3:18, 36)। परमेश्वर पूर्ण रूप से धर्मी है, इसलिए वह पाप को अनुमति नहीं देगा और बुराई को यूँही नहीं छोड़ देगा। क्योंकि परमेश्वर असीमित और अनन्त है, और क्योंकि सभी तरह के पाप अन्त में उसके ही विरोध में किए जाते हैं (भजन संहिता 51:4), केवल एक अनन्तकालीन और असीमित दण्ड ही पर्याप्त होगा। अनन्तकालीन मृत्यु ही केवल पाप के लिए न्यायसंगत सजा है। इसलिए ही हमें बचाए जाने की आवश्यकता है।

यीशु बचाता है, परन्तु वह कैसे बचाता हैॽ
क्योंकि हमने एक असीमित परमेश्वर के विरूद्ध पाप किया है, चाहे एक सीमित व्यक्ति (या हम) हमारे पापों के लिए एक असीमित समय के दण्ड को अदा करे, या एक असीमित व्यक्ति (यीशु) हमारे पापों के लिए दण्ड को एक ही बार में चुका दे। इसके लिए कोई विकल्प नहीं दिया गया है। यीशु हमें हमारे स्थान पर मरने के द्वारा बचाता है। यीशु मसीह नाम के व्यक्ति में, परमेश्वर ने हमारे बदले में स्वयं को बलिदान करते हुए, उस अनन्तकालीन और असीमित दण्ड को अदा कर दिया जिसे केवल वही अदा कर सकता था (2 कुरिन्थियों 5:21; 1 यूहन्ना 2:2)। यीशु ने उस सजा को अपने ऊपर ले लिया जिसके पात्र हम थे ताकि हम एक भयानक अनन्तकालीन गंतव्य की ओर जाने से बच जाए, जो कि पाप का न्यायसंगत परिणाम था। अपने महान् प्रेम के कारण, यीशु ने अपने जीवन को बलिदान करते हुए (यूहन्ना 15:13), उस जुर्माने को अदा कर दिया जो हम पर था, परन्तु जिसे हम अदा नहीं कर सकते थे। यीशु फिर जी उठते हुए, यह प्रदर्शित करता है कि उसकी मृत्यु सचमुच में हमारे पापों के लिए अदा किए हुए जुर्माने के लिए पर्याप्त थी (1 कुरिन्थियों 15)।

यीशु बचाता है, परन्तु वह किसे बचाता हैॽ
यीशु उन सभी को बचाता है जो उसकी मुक्ति के वरदान को स्वीकार करते हैं। यीशु उन सभी को बचाता है जो उसके दिए हुए बलिदान के ऊपर ही केवल पूरी तरह पाप के लिए अदा की हुई कीमत के रूप में विश्वास करते हैं (यूहन्ना 3:16; प्ररितों के काम 16:31)। जबकि यीशु का बलिदान पूर्ण रूप से पूरी मानवता के पापों की कीमत की अदायगी के लिए पर्याप्त था, यीशु केवल उन्हीं ही लोगों को बचाता है जो व्यक्तिगत् रूप से उसके इस सबसे मूल्यवान वरदान को स्वीकार करते हैं (यूहन्ना 1:12)।

यदि अब आप समझ गए हैं कि इसका क्या अर्थ है कि यीशु बचाता है, और आप उसके ऊपर अपने व्यक्तिगत् उद्धारकर्ता के रूप में स्वीकार करना चाहते हैं, तो निश्चित करें कि आप समझ गए हैं और इन बातों में विश्वास करते हैं और विश्वास को प्रगट करने के कार्य के रूप में परमेश्वर से इन बातों को कह सकते हैं। "हे, परमेश्वर, मैं जानता हूँ कि मैं एक पापी हूँ, और मैं जानता हूँ कि मेरे पाप के कारण मैं आपसे अनन्तकाल के लिए अलग होने के योग्य हूँ। हालाँकि मैं इसके योग्य नहीं हूँ, मुझसे प्रेम करने के लिए और मेरे पापों के लिए यीशु मसीह की मृत्यु और जी उठने के बलिदान का प्रबन्ध करने के कारण मैं आपका धन्यवाद करता हूँ। मैं विश्वास करता हूँ यीशु मेरे पापों के लिए मरा और मैं अपने बचाए जाने के लिए केवल उसी में ही विश्वास करता हूँ। इस समय से आगे, मुझे पाप की अपेक्षा आपके लिए जीवन यापन करने में सहायता कर। मुझे बाकी के जीवन को उस अद्भुत उद्धार की कतृज्ञता से भरे रहने के लिए सहायता कर जिसे आपने प्रदान किया है। यीशु, मुझे बचाने के लिए, तेरा धन्यवाद!"

जो कुछ आपने यहाँ पढ़ा है क्या उसके कारण आपने मसीह के पीछे चलने के लिए निर्णय लिया है? यदि ऐसा है तो कृप्या नीचे दिए हुए "मैंने आज यीशु को स्वीकार कर लिया है" वाले बटन को दबाइये।



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



इसका क्या अर्थ है कि यीशु बचाता हैॽ