भ्रान्त शिक्षा देने वाले पंथ या झूठे धर्म में पड़े हुए व्यक्ति को सुसमाचार सुनाने का सबसे उत्तम तरीका कौन सा हैॽ



प्रश्न: भ्रान्त शिक्षा देने वाले पंथ या झूठे धर्म में पड़े हुए व्यक्ति को सुसमाचार सुनाने का सबसे उत्तम तरीका कौन सा हैॽ

उत्तर:
भ्रान्त शिक्षाओं के देने वाले पंथों या झूठे धर्मों में सम्मिलित लोगों के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात जो हम कर सकते हैं वह उनके लिए प्रार्थना करना है। हमें उनके लिए प्रार्थना करने की आवश्यकता है कि परमेश्वर उनके हृदयों को परिवर्तित करे और सत्य के प्रति उनकी आँखों को खोल दे (2 कुरिन्थियों 4:4)। हमें प्रार्थना करना चाहिए कि परमेश्वर उन्हें यीशु मसीह के द्वारा मुक्ति की उनकी आवश्यकता के लिए उन्हें कायल करे (यूहन्ना 3:16)। परमेश्वर की सामर्थ्य और पवित्र आत्मा की कायलता के बिना, हम किसी को भी सत्य के लिए कायल करने के लिए सफलता को प्राप्त नहीं कर सकेगें (यूहन्ना 16:7-11)।

हमें साथ ही भक्तीमय मसीही जीवन को यापन करना चाहिए, ताकि वे जो भ्रान्त शिक्षाओं वाले पंथों या झूठे धर्मों में फँस गए हैं उन परिवर्तनों को देख सकें जिन्हें परमेश्वर ने हमारे अपने जीवनों में लाया है (1 पतरस 3:1-2)। हमें उस ज्ञान के लिए प्रार्थना करनी चाहिए जिसमें हम उनकी सेवा शाक्तिशाली तरीके से कर सकते हैं (याकूब 1:5)। कुल मिलाकर इन सबके बाद, हमें उनके साथ वास्तविक रूप में सुसमाचार सुनाने के लिए साहसी होना चाहिए। हमें यीशु मसीह के द्वारा मिलने वाली मुक्ति के सन्देश की घोषणा करनी चाहिए (रोमियों 10:9-10)। हमें सदैव हमारे विश्वास की प्रतिरक्षा करने के लिए तैयार रहने की आवश्यकता है (1 पतरस 3:15), परन्तु हमें इसे नम्रता और सम्मान के साथ करना चाहिए। हम धर्मसिद्धान्त की सही तरीके से घोषणा कर सकते हैं, शब्दों के युद्ध को जीत सकते हैं, और फिर भी गुस्से से भरे हुए श्रेष्ठता के व्यवहार के द्वारा ठोकर का कारण बन सकते हैं।

अन्त में, हमें मुक्ति के लिए उन्हें परमेश्वर के हाथों में छोड़ देना चाहिए जिन्हें हम गवाही देते हैं। यह परमेश्वर की सामर्थ्य और अनुग्रह है जो लोगों को बचाती है, न कि हमारी अपनी कोशिशें। हांलाकि यह अच्छा और बुद्धिमान से भरा हुआ है कि एक शक्तिशाली बचाव को देने के लिए तैयार रहा जाए और झूठी मान्यताओं के लिए ज्ञान होना चाहिए, परन्तु इनमें से कोई भी उन लोगों को मन परिवर्तन का परिणाम नहीं बनती जो कि भ्रान्त शिक्षाओं देने वाले पंथों या झूठे धर्मों में फँस गए हैं। सबसे उत्तम कार्य जो हम हम कर सकते हैं वह उनके लिए प्रार्थना करना, उन्हें गवाही देना, और उनके सामने मसीही जीवन को यापन, इस भरोसे के साथ करना है कि पवित्र आत्मा उनमें अपने ओर खींचने, कायल करने और मन परिवर्तन का कार्य करेगा।



हिन्दी के मुख्य पृष्ठ पर वापस जाइए



भ्रान्त शिक्षा देने वाले पंथ या झूठे धर्म में पड़े हुए व्यक्ति को सुसमाचार सुनाने का सबसे उत्तम तरीका कौन सा हैॽ